Friday, 5 July 2013

**~मेरा योरोप भ्रमण~ भाग २ ~ "फ्राँस" ~**


अपनी पिछली पोस्ट में मैने बताया था हम लोग 'योरोप भ्रमण' के लिए निकले! हमारा पहला destination था "फ्राँस" !भारत से आधी रात के चले हम लोग अगले दिन  की दोपहर में पेरिस पहुँचे  (वहाँ का समय भारत से साढ़े तीन घंटे पीछे है) ! हल्की-हल्की बारिश हो रही थी! हमारे टूर गाइड मनीष जी एअरपोर्ट पर मिल गये थे! वहीं थोड़ा फ्रेश होकर हम लोग एक बस में इकट्ठे हो गये और घूमने का कार्यक्रम शुरू हो गया!
  
    सबसे पहले हम लोग गये प्रसिद्ध 'सीन नदी' (River Seine) में 'क्रूज़' (Cruise) की सैर को! डबल डेकर क्रूज़, नदी का शीतल, सुंदर नीला-नीला पानी और तेज़ हवा में दिल खुश हो गया! हालाँकि थोड़ी सर्दी भी लग रही थी! मगर बहुत मज़ा आ रहा था! मुझे वैसे भी नदियाँ, पहाड़, समंदर और बर्फ बहुत-बहुत पसंद हैं..! फिर ये सब प्रकृति के उपहार अगर विदेश के साफ़-सुथरे वातावरण में मिल जाएँ...तो बात ही क्या! :-)
      
   सीन नदी काफ़ी बड़ी है! और उसके किनारे-किनारे बहुत सी बड़ी इमारतें भी देखीं! आईफ़ल टॉवेर (Eiffel Tower) भी दिख रहा था! साथ ही क्रूज़ में रेकॉर्डेड कॉमेंटरी भी चल रही.. जिन-जिन प्रसिद्ध इमारतों के सामने से क्रूज़ निकल रहा था!
    

River Seine Cruise 
Center of the Alexander Bridge (taken from the cruise)

   इस नदी के ऊपर कई सारे पुल बने थे, जिनके नीचे से क्रूज़ निकलता था! उन्हीं में से एक था प्रसिद्ध ऐतिहासिक "अलेग्ज़ॅंडर ब्रिज" (Alexander Bridge) ! ये पुल बहुत ही खूबसूरत है! बड़े-बड़े लैम्प्स और  सुनहरे पंखों वाले घोड़े व मूर्तियाँ (nymphs) उसकी शोभा बढ़ा रहीं थे ! ये पुल ज़ार अलेग्ज़ॅंडर के नाम पर बना हुआ है!

Alexander Bridge in the background

इस तरह क्रूज़ से क़रीब दो-ढाई घंटे पेरिस-दर्शन करके हम लोग वापस बस में आ गये! फिर वहाँ से रात के खाने की जगह की तरफ प्रस्थान कर गये! रास्ते में जो भी मशहूर चीज़ पड़ी वो मनीष हमें बताते रहे! शाम के सात बजे के आस-पास हम सब खाने के लिए पहुँचे और फिर वहाँ से अपने होटल, जहाँ हमें दो रातें रुकना था!
    
     अगले दिन हम लोगों का 'डिज़्नी लैंड' , 'आईफ़ल टॉवेर', 'सिटी टूर' तथा 'एन ईव्निंग इन पेरिस' कार्यक्रम था!
     
       नाश्ता वग़ैरह करके हम सब बस में चल दिए 'डिज़्नी लैंड' (Disney Land) ! हम लोगों ने अमेरिका में 'लॉस अंजेलेस' (Los Angeles) में भी डिज़्नी लैंड देखा हुआ था! ये वाला भी उसी के जैसा था! वही 'राइड्स', वही माहौल! इस वाले में कोई ज़्यादा राइड्स नहीं थीं!

Disney Land (Entrance)

Space Mountain Ride
Fantasy Land
House of Mickey Mouse
Disney Land Parade

    Disney Land में चार-पाँच घंटे बिताने के बाद हम लोग आईफ़ल टॉवेर (Eiffel Tower) पहुँचे! हम लोगों को उसकी 'दूसरी मंज़िल' पर जाना था! सो लिफ्ट से वहाँ पहुँचे! वहाँ पहुँचकर जो नज़ारा देखा...वो बहुत ही सुंदर था..! इतने ऊपर से पेरिस शहर की बड़ी इमारतें एकदम खिलौने जैसी लग रहीं थीं! नीचे लोग 'चींटी' जैसे दिख रहे थे! बहुत बढ़िया व्यू मिला! कुछ वक़्त वहाँ बिताने के बाद हम सब नीचे आ गये!

Eiffel Tower Pics:


Palais De Chaillot (Trocadero Square)~(View from the 2nd Level of Eiffel Tower)
View from the 2nd level of the Eiffel Tower
View from the 2nd level of the Eiffel Tower (Public sitting in the lawn in front of the Tower)
View of the River Seine & the city Paris from Eiffel Tower
The Upper floor of the 2nd level of Eiffel Tower
Alexander Bridge on the River Seine clicked from the Eiffel Tower
The Golden Dome of Church of the Invalides (Taken from the Eiffel Tower)
     अब यहाँ से बस पर हम सब दिन के उजाले में 'सिटी टूर' पर निकले!  जो इमारतें देखीं उन के चित्र नीचे दे रही हूँ! सब बाहर से देखीं...क्योंकि इनके अंदर जाना संभव नहीं था...उसके लिए काफ़ी समय चाहिए था! 

ये हैं -

 चर्च ऑफ इनवेलिड्स (Church of Invalides), जिसमें ज़ख़्मी सिपाहियों का इलाज होता था! इसी में नेपोलियन बोनापार्ट का Tomb है:





 Arc de Triomphe यहाँ उन सभी शहीदों की याद में एक ज्योति जलती रहती है, जिन्होने फ्रेंच क्रांति में जान दी थी! ( जैसे अपने देश में 'अमर जवान ज्योति' है:


Notre Dame Cathedral, जिसमें जीसस क्राइस्ट (Jesus Christ) का क्राउन ऑफ थॉर्न्स, क्रॉस -जिसपर उन्हें crucify किया गया (का कुछ हिस्सा), तथा एक कील रक्खी है! इस चर्च में जाने का मेरा बहुत मन था, उस होली क्रॉस (Holy Cross) को छूने का मन था... मगर मजबूर थी..जा नहीं सकती थी! :

Magdalane Church:





Grand Palais & The Petit Palais की इमारत काँच, लोहे तथा स्टील से मिली जुली बनी है!:


Concorde Square:


Opera Garnier , फ्राँस का प्रसिद्ध ऑपेरा हाउस:




Louvre Palace, Louvre Museum, दुनिया का सबसे बड़ा तथा प्रसिद्ध म्यूज़ीयम है जिसमें  मशहूर 'मोनलीज़ा' की पेंटिंग रक्खी हुई है, तथा और कई सांस्कृतिक धरोहर हैं:





       ये सभी इमारतें उजाले में देखने के बाद एक बार फिर रात साढ़े दस हम सब 'एन ईव्निंग इन पेरिस' के लिए निकले! उस वक़्त के नज़ारे के लिए कुछ लिखने की ज़रूरत ही नहीं... बस तस्वीरें देखकर ही उसकी अनमोल ख़ूबसूरती का अंदाज़ा लग जाएगा.. :-)

River Seine



Louvre Museum

Arc De Triomphe


               
Galaries Lafayette




A moving Bus with a Bar & Discotheque



Top of the Eiffel Tower





Champs Elysees (The main street)


Street show going on










          इस तरह...  ''एन ईव्निंग इन पेरिस'' का आनंद ले के हम लोग वापस होटेल आ गये!

   अगले दिन सुबह नाश्ता करके 'बेल्जियम' के लिए निकलना था...!

"बेल्जियम" के बारे में... अगली कड़ी में... :-)
                              
                                क्रमशः

21 comments:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन नहीं रहे कंप्यूटर माउस के जनक डग एंजेलबर्ट - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  2. आज रात नींद में खलल पड़ने से हुई थकावट..सुबह सुबह(मैं कैनेडा में हूँ ) आप ने पैरिस की सैर करा कर फुर्र कर दी .....बहुत सुंदर और खुबसूरत ढंग से तस्वीरो के माध्यम से
    पुरे पैरिस की खुबसूरत इमारतों के दीदार करा दिए ! आप की मेहनत भी साफ़ नज़र आती है .....इससे अगर दूसरों के मुख पर ख़ुशी आ जाये तो मेहनत सफल होती है...
    an evening in paris guzaar kar bhi mazza aa gya !
    शुभकामनाये और आभार!

    ReplyDelete
  3. बहुत ही शानदार तस्वीरे ली हैं आपने, बिल्कुल जीवंत. आपकी पोस्ट के साथ साथ पेरिस भ्रमण में आनंद आ गया, बहुत शुभकामनाएं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  4. अब बेल्जियम दर्शन का इंतजार है.

    रामराम.

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (06-07-2013) को <a href="http://charchamanch.blogspot.in/ चर्चा मंच <a href=" पर भी होगी!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार शास्त्री सर...
      ~सादर!!!

      Delete
  6. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  7. Photos captured are absolutely astounding :) :)

    ReplyDelete
  8. आपनी यात्रा के साथ आपने हमें डिज्नेलैंड में फिर से पहुँचा दिया ,
    चित्रों ने सारे दृष्य सामने रख दिये!

    ReplyDelete
  9. बहुत सुंदर,
    चलिए बेल्जियम में आपका इंतजार

    ReplyDelete
  10. बहुत ही शानदार तस्वीरे ली हैं आपने....

    ReplyDelete
  11. शानदार तस्वीरों के साथ शानदार यात्रा ...आपके साथ हम भी घूम लिए
    .........बहुत बहुत शुभकामनाये

    ReplyDelete
  12. अपने साथ आपने हमें भी घूमा दिया ...बेहतरीन चित्र

    ReplyDelete
  13. मैनें बहुत से लेखको कि किताबें पढी है जिनमे उन्होने अपनी यात्राओं का वर्णन किया है, यकीन जानिए आपने जिस दक्षता के साथ लिखा है वो काबिलेतारीफ है। पढते पढते ऐसा लगा मानो हम ही घूम रहे हों उन जगहों पर। अगले भाग का इन्तजार रहेगा।
    -लेख

    ReplyDelete
  14. अरे वाह अनीता जी,आपकी यह पोस्ट पढ़कर और तस्वीरें देखकर तो मेरी भी सभी यादें ताज़ा हो गयी। सही कहा आपने यहाँ का डिज़्नी लेंड छोटा है मगर स्पेस राइड सबसे बढ़िया थी और सबसे खूबसूरत होती है पेरिस का रात का टूर जो आपने दिन में किया और हाँ आपने वो पुल के नीचे कोई मुराद मांगी या नहीं ?:) कहते हैं उस लवर्स पुल के नीचे जो मांगो वो पूरा हो जाता है :) और एफफेल टावर का रंगीन रूप देखा या नहीं ?? खैर बहुत कुछ हैं बाँटने को और कहने को जो यहाँ संभव नहीं...खूबसूरत तसवीरों से सजा बढ़िया यात्रा वृतांत। शुभकामनायें...

    ReplyDelete
  15. प्रोत्साहन देने के लिए आप सभी की दिल से शुक्रगुज़ार हूँ....
    धन्यवाद व आभार!:-)

    ~सादर!!!

    ReplyDelete
  16. बहुत ही शानदार तस्वीरे ली हैं आपने. बहुत सुंदर,

    ReplyDelete