Thursday, 26 July 2012

* जन्मदिन बहुत बहुत मुबारक माँ ! * :-)


कल 27 जुलाई को मेरी माँ का जन्मदिन है! मेरी प्यारी माँ... प्यार और ममता की जीती जागती मूरत, बहुत ही कर्मठ, इच्छाशक्ति की एक अनूठी मिसाल हैं! जिस काम को उन्होंने किया जी लगाकर किया...और आज भी वही  लगन, वही जज़्बा उनमें मौजूद है! अब बढ़ती उम्र की वजह से उनकी सेहत उनका साथ नहीं देती,मगर फिर भी, आज भी वो अपनी हिम्मत से आगे बढ़कर काम करतीं हैं! ईश्वर से मेरी आज, कल हमेशा... यही प्रार्थना है...कि हे ईश्वर! मेरी माँ का साया हमेशा मेरे सिर पर बना रहे! उनको दीर्घायु, स्वस्थ, खुशियों से भरा जीवन देना...और उनके मन में शांति और सुक़ून का सदैव वास रहे ! ~अमीन!
"जन्मदिन बहुत बहुत मुबारक माँ !"


माँ कैसे मनाऊँ तुम्हारा जन्मदिन...
क्या दूं  मैं तोहफे में तुम्हें?


काश! दे पाती मैं तुम्हें...
वापस तुम्हारा बचपन,
नाना, नानी, मामा मौसी...
फिरती जिनके संग तुम तितली बन!
क्या दूं मैं तोहफे में तुम्हें...?
-----------------------------------
काश! दे पाती  मैं तुम्हें... 
उम्र की वो दहलीज़,
जब थामा था पापा का तुमने हाथ, 
देखे तुम्हारी आँखों ने सपने हज़ार..
उन सपनों का रेशमी लिबास...!
क्या दूं  मैं तोहफे में तुम्हें...?
-------------------------------------
काश! दे पाती मैं तुम्हें...
माँ कहलाने का वो अनूठा पल...
महक उठी थी जब तुम...पाकर झोली में दो फूल...
एक भैया और एक मैं! 
पापा, तुम, भैया और मैं...
हम चारों के वो सांझे लम्हे...
तुम्हारे सबसे प्रिय दिन-रात!
क्या दूं  मैं तोहफे में तुम्हें...?
------------------------------------------
काश दे पाती मैं तुम्हें....
वो अनमोल पल....
भैया की शादी की जब मची धूम... 
पायल की रुनझुन में देखी अपनी छवि...
दुख अपने सारे भूली सभी!
क्या दूं  मैं तोहफे में तुम्हें...?
----------------------------------------
काश दे पाती मैं तुम्हें...
तुम्हारा वो बेजोड़ उत्साह ओ जुनूँ....
जब नये घर में खुद को वारा तुमने! 
रोगों को नकारा, अपनों को संभाला..
कोई शिक़न न चेहरे पर लाई
कभी किसी से न माँगा  कुछ भी ..!
क्या दूं  मैं तोहफे में तुम्हें...?
---------------------------------------------
काश दे पाती मैं तुम्हें...
वो निराली चमक....
जो देखी थी तुम्हारे चेहरे पर...
आने पर नया मेहमान... भाभी की गोदी में! 
घर में बढ़ती किल्कारियों की गूँज...,
संग जिनके गूँजी मेरी शहनाई की धुन..!
क्या दूँ  मैं तोहफे में तुम्हें...?
------------------------------------------------
काश दे पाती मैं तुम्हें...
निरंतर बातों के वो पल छिन...
जो बाँटे हमने....हर दिन, हर पल ..
मेरी अटखेलियों से खिले....तुम्हारी ममता के आँचल तले..
पहले इसके...  कि मैं होती विदा..!
तुम्हारे दिल में बसी धड़कन की तरह,
मेरी शादी थी तुम्हारा अनमोल सपना!
क्या दूँ  मैं तोहफे में तुम्हें...?
-------------------------------------------
काश दे पाती मैं तुम्हें....
वो सारे सपने, वो सारे पल...
जो तुमने देखे, जो संजोए तुमने...,
जो हुए पूरे या रहे अधूरे !
वो हिम्मत, वो सेहत...
जो तुमको कभी ना डिगा सके...अपने मक़सद से!
इच्छाशक्ति की मिसाल हो तुम...
अब भी तुममें है वो जज़्बा बड़ा..!
पर गिरती सेहत से लाचार तुम..!


दिल चाहे, मैं दूँ तोहफे में तुम्हें. !
वो तुम्हारी पहले सी सेहत, वो खिलती मुस्कान,
वो चमकती आँखें, वो मन की शांति
मालूम है मुझे...इससे प्यारा तुम्हें...कोई तोहफा नहीं...
जब भी माँगा तुमने ईश्वर से, फैलाकर अपनी झोली...
माँगी तो बस एक ही चीज़....
परिवार का सुख...और मन का  सुक़ून !!!

19 comments:

  1. माँ के लिए एक बेटी का प्यार कुछ ऐसा ही होता है ...
    सुंदर भाव !
    मेरी तरफ से उनको प्रणाम और शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका बहुत बहुत आभार... शिवनाथ कुमार जी !:-)
      आपने बिल्कुल सही कहा!!!

      Delete
  2. माँ तो सबसे प्यारी होती है..... मेरी और से भी हैप्पी बर्थ डे...

    ReplyDelete
    Replies
    1. चैतन्य! आपको और आपकी मम्मी को Many Many Thanks! साथ ही आपको ढेर सारा प्यार! और आपकी मम्मी को Regards !:-)
      May God Bless you !!!

      Delete
  3. आदरणीया आंटी जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ !


    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. यशवंत जी....आपका बहुत बहुत धन्यवाद!:-)
      हर दुआ अनमोल है.... उसको पहुँचाएंगे माँ तक!!!

      Delete
  4. आपकी माताजी को जनम दिन मुबारक ... आपने मन से चुने हैं शब्द इस दिन के लिए ... दिल से निकले अलफ़ाज़ ....

    ReplyDelete
    Replies
    1. दिगंबर जी! तहे दिल से आपका धन्यवाद और आभार!:-)
      आपने सही समझा! माँ के लिए दिल से निकले हैं सारे भाव! ये अलग बात है...उनकी तस्वीर यहाँ उतारने में हमारे पास शब्द कम पड़ गये ! जितना लिखा है, उससे कहीं ज़्यादा ऊपर है मेरी माँ...
      सादर!!!

      Delete
  5. मां जी का जन्म दिन है यह जाना तो अच्छा लगा।

    दिल है ख़ुश्बू है रौशनी है मां
    अपने बच्चों की ज़िन्दगी है मां

    जन्मदिन मुबारक हो !!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत शुक्रिया और आभार...DR. ANWER JAMAL JI !!! :)

      Delete
  6. Replies
    1. शिखा कौशी जी.....Thank you so much !!!:-)

      Delete
  7. आपकी माताजी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं. आपकी रचना बता रही है कि आप मां के साथ कितना जुडी हुई हैं और आपके जीवन में उनका कितना महत्व है. सच में मांए ऐसी ही होती हैं. बहुत बहुत शुभकामनाएं.

    रामराम.

    ReplyDelete
    Replies
    1. ताऊ रामपुरिया जी ! आपने सही समझा ! हम माँ के...और माँ हमारे दिल में बसती है..!
      आपका बहुत बहुत धन्यवाद और आभार !!!:-)

      Delete
  8. आपकी माताजी को जनम दिन मुबारक

    ReplyDelete
    Replies
    1. SM Ji....बहुत बहुत शुक्रिया !:-)

      Delete
  9. काश दे पाती मैं तुम्हें....
    वो सारे सपने, वो सारे पल...
    जो तुमने देखे, जो संजोए तुमने...,
    जो हुए पूरे या रहे अधूरे !
    वो हिम्मत, वो सेहत...
    जो तुमको कभी ना डिगा सके...अपने मकसद से!

    मां के जन्मदिन पर भावों का अनूठा तोहफा !
    मां को जन्मदिन की बधाई एवं शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. mahendra verma Ji....बहुत बहुत धन्यवाद व आभार ! सदर !!! :-)

      Delete
  10. बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति .. आपकी इस रचना के लिंक की प्रविष्टी सोमवार (05.08.2013) को ब्लॉग प्रसारण पर की जाएगी, ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया पधारें .

    ReplyDelete