Thursday, 10 July 2014

घटा साँवरी-चोका

फोटो: अनिता ललित 
                                                    घटा  साँवरी
                                                    पहन के पायल
                                                    बूँदों से सजी,
                                                    हवाओं की धुन पे
                                                   आज मचली,
                                                  बहकी मतवाली
                                                   हुई बावरी !
                                                  खनके रुनझुन
                                                  बूँदें घुँघरू
                                                  छलके रिमझिम
                                                  यादों के मोती,
                                                  धरा के आँचल को
                                                  प्यार से छूते,
                                                 महकाते, भिगोते
                                                 प्रेम-राग सुनाते।


7 comments:

  1. अच्छा प्रस्तुतीकरण !

    ReplyDelete
  2. घटा साँवरी
    पहन के पायल आये जब
    ........ रिमझिम बूँदों का रूनझुन हो जाना स्‍वाभाविक है
    बेहतरीन

    ReplyDelete
  3. बढ़िया प्रस्तुति-
    आभार आपका-

    ReplyDelete
  4. सुन्दर प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर

    ReplyDelete